StoryTeller | 22 Jan 2018

Tum na hota…

अगर हमारी शब्दों के कोष में ‘तुम’ ना होता
तो, कोई छोटा ना होता
अगर हम सिर्फ ‘आप’ कहते
तो शायद आदर की समझ होती

काश, हमारे शब्दों के कोष में सिर्फ ‘आप’ होता
हमारे बच्चे ‘आप’ होते
हजारों पत्नियाँ ‘आप’ होती
लाखों युवा ‘आप’ होते
हमारी नींव कमज़ोर ना होती
शायद छोटेपन का एहसास न होता
शायद सिर्फ सम्मान होता

काश, हमारे शब्दों के कोष में सिर्फ आप होता

एक भिकारी भी ‘आप’ होता
वो नौकर भी ‘आप’ होता
हमारी बाई भी ‘आप’ होती
हमारी बच्चियाँ भी ‘आप’ होती
कोई छोटा ना होता
कोई बड़ा ना होता

काश हमारे शब्दों के कोष में ‘तुम’ ना होता
हमारे आँखों में एक ही भाव होता
हम इंसान होते, शायद इंसानियत होती
कोई छोटा ना होता, कोई बड़ा ना होता
काश हमारे शब्दों के कोष में सिर्फ ‘आप’ होता


By Vishakha Singh

StoryTeller

Share With Your Friends

Recent Articles
एक नयी शुरुआत रेड पोल् ...
हेलो , मेरा नाम विशाखा है और मैं रेड-पोल ...
5 blouses for the upcoming Diwali season ...
For every woman who likes to curate her wardrobe for the upcoming festivities of Diwali, there ...
A Yummy ‘Green’ Menu to Try this Weekend ...
Since green is the ruling colour of 2017 according to Pantone, we thought why don’t we even eat so ...
Trend Alert: Ruffle mania! Here is how Sonam Kapoor ruffles ...
Fashion enthusiast or not, one take back from the various fashion weeks around the globe is to sport ...